मानव सेवा ही सबसे बड़ा सेवा:: मनीष कुमार

Surendra nath Dwivedi

Reported By: Surendra nath Dwivedi
Published on: May 13, 2020 | 4:56 PM
1013 लोगों ने इस खबर को पढ़ा.

निस्वार्थ भाव से सेवा करना मानव का परम धर्म है/ मनीष कुमार रुगटा

हाटा कुशीनगर।–बेद प्रकाश मिश्र
जनता की सेवा करने का जुनून हो तो लोगों के दिल में जगह बनाई जा सकती है। हम बात कर रहे हैं नमो सेना के जिलाध्यक्ष एवं सभासद प्रतिनिधि मनीष रुंगटा की जिन्होंने कोरोना संकट के दौरान एक माह से अधिक समय से राष्ट्रीय राजमार्ग 28 से आने जाने वाले मजदूरों पैदल यात्रियों व भूखे को भोजन कराकर बिहार जाने वाली ट्रकों से उन्हें घर भेजवाना दैनिक दिनचर्या बन गई है। मनीष रूगंटा कहते हैं कि देश पर आए संकट के समय एक मानव होने के नाते मानव सेवा पहला धर्म है। समाज के प्रति हमारा और हमारी टीम का सहयोग जारी रहेगा। मनीष बचपन से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े रहे देश के प्रति प्रेम और हिन्दू धर्म के विस्तार के लिए निरंतर प्रयत्नशील रहे है।उनके आस पास के लोग उनको किसी फरिश्ते से कम नही समझते। इसका मुख्य कारण कि वो किसी मजबूर लाचार गरीब इंसान के लिए दिन रात खड़े रहते है।मनीष रुगटा ने कहा कि वह धन किस काम का जो जनसेवा के काम न आवे।हौसला बुलंद हो तो कोई भी काम किया जा सकता है।गरीब मजदूरों की सेवा से स्वय को राहत मिलता है।इस नेक कार्य में पिंटू उपाध्याय, प्रमोद सिंघानिया, धीरेंद्र मद्धेशिया, सुधीर गुप्ता, धर्मेंद्र बर्नवाल,सत्यम बरनवाल आदि दिन-रात इस सेवा में अपना योगदान दे रहे है।

...

© All Rights Reserved by News Addaa 2020