वाराणसी | वाहिनी परिसर में स्थित आदि शक्ति दुर्गा मंदिर के साथ स्थित ऐतिहासिक वृहद कुंड पर इस वर्ष 34 वाहिनी पीएसी, भुल्लनपुर, वाराणसी में स्थापना वर्ष 1972 के पश्चात पहली बार 11,000 दीपक प्रज्वलित कर दीपोत्सव मनाया गया। वाहिनीं में प्रथम बार जवान, उनके परिवारीजन एवं समस्त अधिकारीगण द्वारा सामूहिक रूप से दीप प्रज्वलित कर, इस प्रकाश पर्व को पूर्ण उमंग हर्षोल्लास एवं उत्साह के साथ मनाया गया

सेनानायक श्री राजीव नारायण मिश्र, आईपीएस ने देर रात न्यूज अड्डा के साथ बात चीत के क्रम में बताया कि यह दीपोत्सव कई मायनों में विशिष्ट रहा क्योंकि भारत माता के मानचित्र पर भी दीप प्रज्ज्वलित किया गया तथा इससे राष्ट्रीय एकता व अखंडता का संदेश भी प्रसारित हुआ।
इस भव्य कार्यक्रम में लोग जगह जगह ‘सेल्फी’ लेते नजर आए तथा पूरे दिव्य दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान ड्रोन कैमरा भी प्रयोग किया गया जोकि इस बड़े सरोवर के चारों ओर के मनोरम दृश्यों को कैद करता रहा तथा कार्यक्रम में उपस्थित बच्चों के लिए मनोरंजन का केंद्र भी रहा। पर्यावरण संरक्षित करने के उद्देश्य से पटाखों का प्रयोग कार्यक्रम के दौरान नहीं किया गया तथा कोविड-19 का संक्रमण रोकने के उद्देश्य से ‘सोशल डिस्टेंसिंग’ का भी पूरा ध्यान रखा गया।

वाहिनी के समस्त कर्मचारी एवं जवान जो प्रदेश की कानून एवं व्यवस्था को बनाने हेतु प्रदेश की विभिन्न जनपदों में अपने परिवारों को छोड़कर ड्यूटी में लगे हुए हैं, उनके परिवारी जनो ने इस कार्यक्रम में शामिल होकर काफी प्रसन्नता महसूस की। इस कार्यक्रम के दौरान सेनानायक श्री राजीव नारायण मिश्र आईपीएस अपनी धर्मपत्नी श्रीमती दीपिका मिश्रा व पूरे परिवार के सहित दीपोत्सव व आरती में सम्मिलित हुए। कार्यक्रम में श्री वीरेंद्र यादव उप सेनानायक,सहायक सेनानायक श्री अभिषेक तथा श्री नरेश यादव, क्वार्टर मास्टर श्री रजनीकांत ओझा व अन्य अधिकारी/ कर्मचारीगण उपस्थित रहे।