अनिल यादव/न्यूज अड्डा

तमकुहीराज/कुशीनगर। भागवत कथा के श्रवण से मनुष्य की समस्त पाप, संताप एक साथ समाप्त हो जाते हैं तथा मनुष्य को मोक्ष प्राप्ति के आसार भी मिल जाता है। उक्त बातें दनियाड़ी के रामेश्वरम धाम शिवमन्दिर परिसर में आयोजित श्रीमद्भागवत ज्ञान महायज्ञ के दुसरे दिन कथावाचक गणेश दास जी महाराज ने कही।

मंगलवार को दनियाड़ी के रामेश्वर धाम शिवमन्दिर परिसर में आयोजित श्रीमद्भागवत ज्ञान महायज्ञ के दुसरे दिन कथावाचक गणेश दास महाराज ने कही कथा का रसपान कराते हुए उन्होंने कहा कि कथा श्रवण से नर को नारायण समत्व प्रदान करते हैं या ग्रंथ तीनो लोक परलोक सवारने वाला है इनके 11 श्लोक के अक्षर अक्षर में भगवान श्री कृष्ण के सामंता समाई हुई है।

इस दौरान यज्ञाचार्य विवेकानंद शास्त्री, सिंगासन दास जी महाराज, अक्लू प्रसाद गोड़ ग्राम प्रधान, चंद्रमा यादव,नगीना कुशवाहा, बुधराम यादव, मोहन चौहान, विद्या प्रसाद, सुरेश चौहान, ओमप्रकाश कुशवाहा,मकुन्दर, दशरथ चौहान,रमेश यादव, भाग्यनरायन,प्रमोद शर्मा, योगेंद्र कुशवाहा, प्रहलाद यादव, जयप्रकाश कुशवाहा, मोहन चौहान, हरेंद्र यादव, लालजी चौहान, रामेश्वर कुशवाहा छठु कुशवाहा, राजेश,गनेश,रमेश यादव, मुकेश पाल, अनिल यादव, मंटू शाह,विनोद मिश्र, त्रिबेनि चौहान, अवध नरायन,हरिनारायण बरनवाल,सहित सैकड़ों स्रोता गण मौजूद रहे।