Addaa

मल्लूडीह/कसया। गन्ने की उत्पादकता एवम चीनी परता में वृद्धि करने व कृषको की आय बढ़ाने के लिए शरद गन्ना बुवाई के लिए अधिक शर्करा एवम अधिक देने वाली 9 प्रजातियों का ब्रीड सी अभिजनक बीज गन्ना 8 जिले के लिए कुल 5403 कुंतल का आवंटन गन्ना आयुक्त कार्यालय लखनऊ से गेंदा सिंह गन्ना प्रजनन एव अनुसंधान संस्थान सेवरही से किया गया है ।

गन्ना बुवाई के लिए किसान अपने गन्ना पर्यवेक्षक से मिलकर प्राप्त कर सकेंगे । यह जानकारी उत्तर प्रदेश गन्ना किसान संस्थान प्रशिक्षण केंद्र पिपराइच गोरखपुर के सहायक निदेशक ओम प्रकाश गुप्ता ने दी । सहायक निदेशक ने बताया की शीघ्र पकने वाली 4 प्रजातियों का 2632 कुंतल प्रजाति है को. 118 , को. सा. 13231 , यूपी 051250 , को. 98014 है । मध्य देर से पकने वाली पांच प्रजातियां जिसमे को. 13452 , 11453 , को. शा. 8279 , 9232 , को. स. 8452का 2711 कुंतल का आवंटन हुआ है । 425 रुपया कुंतल की दर से बिडर सीड आवंटन के आधार पर दिया जायेगा । कुशीनगर जिले को 1552 कुंतल , देवरिया को 430 कुंतल , गोरखपुर को 745 कुंतल , महाराजगंज को 330 कुंतल , मऊ को 450 कुंतल , बस्ती को 1591 कुंतल , सिद्धार्थ नगर को 105 कुंतल , बलिया को 200 कुंतल आवंटित किया गया है ।

गन्ना शोध संस्थान से सेवरही के वरिष्ठ वैज्ञानिक ने बीज डॉ के पी सिंह ने सहायक सहायक निदेशक ओम प्रकाश गुप्ता को शोध प्रक्षेत्र पर गन्ना प्रजाति को लख 14201 को दिखाते हुए बताया की इस प्रजाति का एक आंख का टुकड़ा सिंगल बड् चिप्स एक रुपया 60 पैसे प्रति टुकड़ा के दर से 2 लाख 60 हजार सिंगल बड दिया जाएगा । दूसरी प्रजाति को. सा. 13235 का दस लाख पचास हजार एक आंख का टुकड़ा 5 जिलों को 1 रुपया 20 पैसा प्रति आंख की दर से दिया जाएगा । को. 0238 गन्ना प्रजाति रोग ग्रषित होने के कारण शोध संस्थान इसका बीज गन्ना नही देगा । किसान गन्ना विभाग के माध्यम से किसान आकर बीज गन्ना ले जा सकते है ।