जानिए टोक्यो ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा कौन है?

टोक्यो ओलंपिक में भारत के स्टार जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीत लिया है। नीरज चोपड़ा ने भाला फेंक में देश को गोल्ड मेडल दिलाया है।ओलंपिक के इतिहास में भारत की तरफ से जेवेलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने एथलीट ट्रैक एंड फील्ड स्पर्धा में पहला पदक जीता है। इसके साथ भारत को टोक्यो ओलंपिक में पहला गोल्ड मिला है। नीरज चोपड़ा ने सिर्फ 23 साल की उम्र में इतिहास रच दिया है। 

सबसे बड़ी बात यह है कि नीरज ने क्वालीफिकेशन राउंड में साल 2017 के विश्व चैंपियन जोहानेस वेटर को शिकस्त देकर फाइनल में जगह बनाई थी। एथलीट जोहानेस ने कहा था कि उन्हें हराना किसी खिलाड़ी के लिए आसान नहीं है, लेकिन नीरज चोपड़ा ने उन्हें धूल चटा दी। नीरज ने सर्वश्रेष्ठ थ्रो 87.58 मीटर फेंका। आईए जानते हैं भारत के स्टार जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा के बारे में सबकुछ….

नीरज चोपड़ा का पूरा जीवन परिचय:-

जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा का जन्म साल 1997 में 24 दिसंबर को हरियाणा के पानीपत में हुआ था। नीरज के पिता का नाम सतीश कुमार है जबकि माता का नाम सरोज देवी है। नीरज चोपड़ा कुल पांच भाई बहन हैं। नीरज के दो भाई और दो बहन हैं और वह सबसे बड़े हैं। पानीपत जिले के गांव खंडरा के रहने वाले नीरज के पिता किसान हैं और वह खेती करते हैं। नीरज की माता एक गृहणी हैं। नीरज चोपड़ा ने अभी शादी नहीं की है।

नीरज चोपड़ा की शिक्षा :-

नीरज चोपड़ा (क्षत्रिय) समुदाय से आते हैं। उन्होंने चंडीगढ़ के डीएवी कॉलेज से पढ़ाई की है। उन्होंने साल 2011 में कॉलेज में प्रवेश लिया। वह पढ़ाई में भी टाॅपर रहे। उनके पिता ने उनके अच्छे भविष्य के लिए उनको चाचा के साथ पढ़ाई के लिए चंडीगढ़ भेज दिया। इसके बाद उनके चाचा एक दिन उनको पंचकुला में एथलेटिक्स कोच नसीन अहमद के पास लेकर गए और उनसे कहा कि वह नीरज को दौड़ा करें, क्योंकि वह खाकर मोटा रहे हैं। इसके बाद नीरज स्टेडियम में जाने लगे। उन्होंने हॉस्टल में रहकर साल 2016 तक जैवलिन थ्रो की ट्रेनिंग ली। साल 2016 में नीरज ने आईएएएफ चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता जिसके बाद उनके शानदार प्रद्रशन की वजह से उन्हें भारतीय सेना में अधिकारी के पद पर नियुक्त किया गया।

नीरज चोपड़ा का करियर:-

जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने जब 11 साल के थे तभी से वह भाला फेकते थे। नीरज चोपड़ा ने साल 2014 में ट्रेनिंग के लिए एक सात हजार रुपए का भाला खरीदा था। इसके बाद उन्होंने अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने के लिए एक लाख भाला खरीदा। साल 2016 में नीरज ने आईएएएफ चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता जिसके बाद उनके शानदार प्रद्रशन की वजह से उन्हें भारतीय सेना में अधिकारी का पद मिला। नीरज चोपड़ा विश्व रैंकिंग में चौथे नंबर के खिलाड़ी हैं।

नीरज चोपड़ा ने साल 2012 में लखनऊ में अंडर 16 नेशनल जूनियर चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था। इस टूर्नामेंट में नीरज 68.46 मीटर भाला फेंककर रिकॉर्ड बनाया था। साल 2013 में नीरज ने नेशनल यूथ चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने दूसरा स्थान हासिल किया और यूक्रेन में आयोजित आईएएएफ वर्ल्ड यूथ चैंपियनशिप में जगह बनाई। इस प्रतियोगिता का आयोजन साल 2015 में किया गया जिसमें उन्होंने गोल्ड मेडल जीता। इसके बाद भारत के स्टार जैवलिन थ्रोअर ने साल 2016 में जूनियर विश्व चैंपियनशिप में रिकॉर्ड बनाया और 86.48 मीटर भाला फेंक गोल्ड मेडल जीता। इसी साल नीरज चोपड़ा ने दक्षिण एशियाई खेलों में 82.23 मीटर की थ्रो फेंककर गोल्ड मेडल हासिल किया। साल 2018 में गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ खेल में नीरज ने स्वर्ण पद जीता। उन्होंने 86.47 मीटर भाला फेंका था। इसी साल नीरज ने जकार्ता एशियन गेम में गोल्ड मेडल जीता।


FAQ

neeraj chopra instagram, neeraj chopra salary, neeraj chopra ror, neeraj chopra jat, neeraj chopra cast name, neeraj chopra, neeraj chopra family, neeraj chopra army unit, neeraj chopra family members, neeraj chopra ranking, neeraj chopra gold medals