पडरौना/कुशीनगर। सांप्रदायिक दृष्टिकोण से अति संवेदनशील बड़हरागंज श्रीकृष्ण जन्माष्टमी डोल मेला का समापन रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच हुआ। जन्माष्टमी के तीसरे दिन लगने वाले इस मेला की सुरक्षा को लेकर अधिकारी हलकान थे। सब कुछ ठीकठाक संपन्न होने के बाद उन्होंने राहत की सांस ली।

खिलाड़ियों द्वारा दिखाए गए हैरतअंगेज करतब लोगों के आकर्षण का केंद्र रहा। मुस्लिम समुदाय के जिम्मेदारों ने प्रशासनिक अधिकारियों व डोल आयोजकों का माला पहनाकर स्वागत किया। सुबह से ही गांव के धार्मिक स्थलों व चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल के अलावा रैपिड एक्सन फोर्स के जवान तैनात रहे। एडीएम सदर महात्मा सिंह, सीओ सदर कुंदन सिंह,प्रभारी निरीक्षक कोतवाली राज प्रकाश सिंह पैनी नजर रख रहे थे। कोतवाली प्रभारी राज प्रकाश सिंह की देखरेख में गांव के रामजानकी मंदिर से डोल उठा और मस्जिद होते हुए पूरे बाजार का भ्रमण किया। दोनों समुदाय के लोगों ने प्रशासनिक निर्देशों का पालन किया।

मस्जिद के समीप सड़क के दोनों तरफ लगाए गए लाल निशान के समीप जयकारा पर पाबंदी थी,जिसका पालन किया गया। भ्रमण करते हुए मुख्य सड़क पर डोल लेकर लोग पहुंचे तो दूसरे समुदाय के प्रधान की अगुवाई में प्रशासनिक अधिकारियों सहित डोल आयोजकों का स्वागत किया गया। शाम करीब पांच बजे शिव मंदिर में डोल पहुंचा,जहां लोगों ने मेले का लुफ्त उठाया। सुरक्षा व्यवस्था में छह थानाध्यक्ष, 15 एसआई, 150 कांस्टेबल, दो दर्जन महिला कांस्टेबल, दो सेक्सन पीएसी, एक कंपनी रैपिड एक्शन फोर्स, फायर ब्रिगेड की टीम तैनात रही। इस मौके पर डा. मुरारीलाल श्रीवास्तव, महेंद्र दीक्षित, दीनानाथ गुप्त, केदार गुप्त, दीलीप गुप्त, राजू गुप्त, डा. अख्तर, नेक मुहम्मद, इश्तेखार अहमद,आफताब सिद्दीकी, हाफिज बशीर, रियाजुद्दीन मैनेजर, एजाज अंसारी आदि मौजूद रहे।