अयोध्या में राम मंदिर की जमीन की खरीद में हुए घोटाले की शिवसेना ने सामना समेत कई प्लेटफॉर्म पर आलोचना की थी। आलोचना के दौरान शिवसेना की ओर से भाजपा पर निशाना साधा गया था। इसके विरोध में भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने आज दादर स्थित शिवसेना भवन के सामने प्रोटेस्ट किया।

प्रोटेस्ट चल ही रहा था कि बड़ी संख्या में शिवसैनिक भी यहां पहुंचे गए और उन्होंने भी भाजपा के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। मामला इस कदर बढ़ा कि पुलिस की मौजूदगी में दोनों पक्षों के बीच भिड़ंत हो गई। भाजपा नेताओं का आरोप है कि शिवसेना के लोगों ने उनके साथ मारपीट की है।

कंट्रोल करने के लिए पुलिस को चलानी पड़ी लाठियां

इस बीच मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने दोनों पक्षों को काबू करने के लिए लाठियां भी भांजी। कई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया गया है। फिलहाल मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात हैं और स्थिति को काबू करने का प्रयास जारी है। शिवसेना भवन के सामने भाजपा की ओर से यह प्रोटेस्ट भाजपा युवा मोर्चा के तेजिंदर सिंह के नेतृत्व में किया गया था। प्रोटेस्ट की जानकारी मिलने के बाद शिवसेना विधायक सदा सर्वंकर कई शिवसैनिकों के साथ यहां पहुंचे और विवाद बड़ा हो गया। विधायक सदा ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि भाजपा कार्यकर्ता यहां पथराव कर रहे हैं।

‘सोनिया सेना हाय- हाय’ की घोषणा से बढ़ा विवाद

शिवसेना भवन के सामने फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए पुलिस की एक बड़ी टुकड़ी को तैनात किया गया है। शिवसेना नेताओं का आरोप है कि भाजपा के लोग ‘सोनिया सेना, हाय-हाय’ के नारे लगा रहे थे। इसके बाद लोगों में आक्रोश पैदा हुआ और मामला हाथापाई तक पहुंच गया। भाजपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि जब हम गाड़ी से यहां से जा रहे थे तो शिवसैनिकों ने हमें रोका और पीटा।