• पकडे गए अभियुक्त पर कई अपराधिक मुकदमा है दर्ज
  • बरामद चरस की कीमत लगभग पांच लाख बताई जा रही है

खड्डा/कुशीनगर। गोरखपुर नरकटियागंज रेलमार्ग के पनियहवा रेलवे स्टेशन से जीआरपी पुलिस ने चेकिंग के दौरान एक चरस तस्कर को 3 किग्रा अवैध चरस जिसकी कीमत लगभग 5 लाख है, को शुक्रवार को गिरफ्तार करने में बड़ी सफलता हासिल की है। पकड़े गये अभियुक्त के विरुद्ध कोतवाली पड़रौना में गैगेस्टर एक्ट व विभिन्न थानों में अपराधिक मुकदमा दर्ज है। जीआरपी पुलिस ने गोरखपुर जीआरपी थाने में अभियुक्त के विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर न्यायालय भेज दिया है।

पुलिस अधीक्षक जीआरपी गोरखपुर के निर्देशन व पुलिस उपाधीक्षक के पर्यवेक्षण में संदिग्ध व्यक्ति व वस्तुओं के विरुद्ध चलाए जा रहे सघन चेकिंग अभियान के क्रम में प्रभारी निरीक्षक जीआरपी गोरखपुर विजय प्रताप सिंह ने बताया कि उनके नेतृत्व में शुक्रवार को उपनिरीक्षक चौकी प्रभारी पड़रौना अवधेश कुमार त्रिपाठी व हेकां. चन्द्रजीत यादव की टीम ट्रेनों में सघन चेकिंग अभियान चला रही थी कि पनियहवा स्टेशन पर एक संदिग्ध की तलाशी के दौरान उसके झोले से 3 किग्रा चरस बरामद हुआ। बरामद चरस की कीमत लगभग 5 लाख रुपये की है। कड़ाई से पुछताछ करने पर उसने अपना नाम राम अशीष चौहान पुत्र दयानंद चौहान साकिन दुबौली थाना नेबुआ नौरंगिया जनपद कुशीनगर बताया। चरस बरामदगी व अभियुक्त की गिरफ्तारी के आधार पर गोरखपुर जीआरपी थाने में मु.अ.सं. 167/2022 धारा 8/20 एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर न्यायालय भेज दिया गया है जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

प्रभारी निरीक्षक श्री सिंह ने बताया कि पकड़े गए अभियुक्त का अपराधिक इतिहास खंगालने पर पता चला है कि उसके द्वारा बिहार प्रांत सहित दूसरे प्रदेशों में अवैध रूप से ट्रेनों से मादक पदार्थों की तस्करी की जाती रही है। उसके विरुद्ध कोतवाली पड़रौना में गैगेस्टर व धोखाधड़ी एवं चोरी, जटहां पुलिस थाने में चोरी सहित कई गम्भीर अपराध तथा खड्डा थाने में आर्म्स एक्ट में मुकदमा पंजीकृत है।