फाजिलनगर/कुशीनगर (अनीश पाण्डेय) । कुशीनगर महोत्सव के 11वें दिन बुधवार की रात फाजिलनगर के नौका बिहार परिसर में लोक गायन और कबीर वाणी का आयोजन किया गया।जिसमें मुख्य अतिथि केंद्रीय कानून एवं विधि राज्यमंत्री एसपी सिंह बघेल,सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष प्रदीप राय,देवरिया सांसद रमापति राम त्रिपाठी तथा विधायक सुरेंद्र कुशवाहा सहित बतौर अतिथि मौजूद रहें। जिसमें बुद्ध के अंतिम भोजन स्थल पर आयोजित कुशीनगर महोत्सव के दौरान सूफी गायक बंदा बैरागी के गीतों पर पूरी रात श्रोता झूमते रहें।कार्यक्रम का उद्घाटन केंद्रीय राज्यमंत्री एसपी सिंह बघेल तथा सांसद रमापति राम त्रिपाठी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि केंद्रीय राज्यमंत्री एसपी सिंह बघेल ने कहा कि यह धरती भगवान बुद्ध और महावीर का संगम स्थली है।दोनों ने विश्व को अहिंसा का संदेश दिया।जिसकी प्रासंगिकता हमेशा रहेगी।आज सबको युद्ध का रास्ता छोड़कर बुद्ध का रास्ता अपनाने की आवश्यकता है।इसी राह पर चलकर पूरे विश्व में अमन चैन का माहौल स्थापित कर सकते हैं।साथ ही उन्होंने कहा कि यह आयोजन इस राज्य में ही नहीं बल्कि पूरे देश में इस जिले को विशेष पहचान दिलाने का कार्य कर रहा है।

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष प्रदीप राय ने इस कार्यक्रम के दौरान कबीर वाणी आयोजन को सराहा और कहा कि कबीर दास की शिक्षाएं आज भी समसामयिक हैं। उन्होंने मौके पर मौजूद लोगों से अपने बच्चों को शिक्षित कर समाज के विकास में योगदान देने की बात कहीं। साथ ही देवरिया सांसद डॉ. त्रिपाठी ने आयोजन की तारीफ करते हुए कहा कि यह आयोजन पूरे पूर्वांचल में एक सर्वश्रेष्ठ उदाहरण बन चुका है।इसके माध्यम से लोक कला और लोक गायन के माध्यम से स्थानीय जनता का परिचय कराया जा रहा है।जो की यह बहुत ही प्रशंसनीय है।

इस दौरान कुशीनगर महोत्सव समिति के अध्यक्ष विनय राय ने सभी अतिथियों को अंग वस्त्र और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।