साखोपार/कुशीनगर। देवरिया जिले में हुए सड़क हादसे में कुशीनगर के कसया थाना क्षेत्र के कोहड़ा गांव के 5 लोगों के मौत में एक बुजुर्ग पिता के लाठी का सहारा टूट गया तो वही 6 बच्चियों के सर से पिता का साया उठ गया। तथा परिवार के ऊपर भरण पोषण का भी संकट खड़ा हो गया।आपको बता दें कि कोहड़ा गांव से गए तिलक में शामिल होने गांव के उमाकांत पांडेय पुत्र सत्यनारायण पांडेय भी गए थे,वापस लौटते समय जिस गाड़ी में उमाकांत बैठे थे वह एक बस से टकरा गई जिसमें सवार 5 लोगों की मौत हो गई।

इसमें उमाकांत की मौत ने बूढ़े पिता की लाठी का सहारा छीन लिया तो वही 6 बच्चियों के सर से पिता का साया उठ गया। उमाकांत की सिर्फ 6 बच्चियां ही हैं जिसमें अभी किसी की शादी नहीं हुई है,सभी किसी न किसी क्लास में पढ़ाई कर रही हैं।उमाकांत ही परिवार के एकमात्र कमाऊ सदस्य थे। उमाकांत की मौत से परिवार वाले सदमे में हैं। पत्नी रो -रो कर बेहोश हो जा रही थी,जबकि बच्चियों के आंखों से आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहा था।वही बूढ़े पिता वह बूढ़ी माता बेटे के मौत के गम में रो-रोकर बदहवास पड़ी थी।